Navratri 2021: तृतीया-चतुर्थी तिथि एक, मां की डोली की सवारी देती है प्राकृतिक आपदाओं का संकेत

Spread the love


Navratri 2021: शक्ति की उपासना का महापर्व शारदीय नवरात्र इस बार सात अक्तूबर से शुरू होगा। चतुर्थी तिथि क्षय होने के कारण नौ के बजाय आठ दिन के ही नवरात्र होंगे। 13 अक्तूबर को महाअष्टमी और 14 को महानवमी मनाई जाएगी। वहीं, मां दुर्गा इस बार डोली में सवार होकर आएंगी। यह स्थिति स्त्रियों के वर्चस्व में वृद्धि लेकिन प्राकृतिक आपदा, भूकंप, आगजनी और राजनीतिक उठापटक के संकेत देती है।

ज्योतिषचार्य विभोर इंदूसुत के मुताबिक, अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से शारदीय नवरात्र शुरू होंगे। जगतजननी मां जगदंबा के नौ अलग-अलग रूपों की उपासना होगी।

13 को अष्टमी, 14 को मनाई जाएगी नवमी
ज्योतिषचार्य विभोर इंदूसुत के अनुसार, इस बार चतुर्थी तिथि क्षय होने के कारण नवरात्रि का एक दिन घट रहा है। नौ की बजाय आठ दिन का नवरात्र होगा। सात अक्तूबर को प्रतिपदा यानि पहली नवरात्र होगी। इसी दिन घटस्थापना की जाएगी। 13 अक्तूबर को अष्टमी और 14 को नवमी मनाई जाएगी। इन दोनों दिनों में भक्त कन्या पूजन कर सकेंगे।

Read Also:  लखीमपुर कांड: पहले दी थी सुधारने की धमकी, फिर किसानों को कुचला, अजय मिश्रा पर बरसे राहुल गांधी

डोली पर सवारी: स्त्रियों का बढ़ेगा वर्चस्व लेकिन आपदाओं से होगी हानि
इस बार नवरात्रि का आरंभ गुरुवार से हो रहा है। नवमी के बाद विजय-दशमी में शुक्रवार के दिन माता का प्रस्थान होगा। शास्त्रीय मान्यता के अनुसार गुरुवार और शुक्रवार को माता की सवारी डोली होती है। मां जगदंबा डोली में सवार होकर आएंगी और डोली में बैठकर ही प्रस्थान करेंगी। मान्यता के मुताबिक, नवरात्रि में माता की डोली की सवारी स्त्री शक्ति की मजबूती लेकिन प्राकृतिक आपदा, आगजनी और राजनीतिक उठापटक के संकेत भी देती है।

नवरात्र 2021 की तिथियां:
प्रतिपदा 7 अक्तूबर मां शैलपुत्री

Read Also:  Market Live: सेंसेक्स-निफ्टी ऑल टाइम हाई पर, टाटा मोटर्स के शेयरों में 9 फीसद से ज्यादा की उछाल

द्वितीया 8 अक्तूबर मां ब्रह्मचारिणी
तृतीया/चतुर्थी 9 अक्तूबर मां चंद्रघंटा/मां कूष्मांडा

पंचमी 10 अक्तूबर मां स्कंदमाता
षष्ठी 11 अक्तूबर मां कात्यायनी

सप्तमी 12 अक्तूबर मां कालरात्रि
अष्टमी 13 अक्तूबर मां महागौरी (दुर्गा अष्टमी)नवमी 14 अक्तूबर मां सिद्धिदात्री (महा नवमी)

घट स्थापना का शुभ मुहूर्त
इस बार घट स्थापना के लिए सात अक्तूबर को दो विशेष मुहूर्त हैं। पहला मुहूर्त सात अक्तूबर की सुबह 6:17 से 7:44 के बीच है। इस समय शुभ चौघड़िया मुहूर्त उपस्थित होगा। इसके बाद, सुबह 9:30 बजे से स्थिर लग्न का शुभ मुहूर्त शुरू हो जाएगा जो 11:43 बजे तक रहेगा।

पहला मुहूर्त सुबह 6:17 से 7:44 तक
दूसरा मुहूर्त सुबह 9:30 से 11:43 तक

Related posts:

लोजपा सांसद प्रिंस राज पासवान को बड़ी राहत, दिल्ली की अदालत ने रेप केस में दी अग्रिम जमानत
PPF या सुकन्या समृद्धि योजना? जानें कहां मिलेगा सबसे बेहतर रिटर्न
ऑटो चालक और सहयोगी ने की थी धनबाद के जज की हत्या, चार्जशीट सौेपी
Downlaod NEET Answer Key 2021 : नीट परीक्षा की आंसर-की जारी, इस Direct Link से करें डाउनलोड
नफीसा अली ने शेयर कीं लकी अली की बेटी सारा की खूबसूरत फोटोज, लोग बोले- गाती भी है?
क्या मोदी सरकार ने LPG पर खत्म कर दी सब्सिडी? ऐसे करें चेक
पर्व त्योहार: धनतेरस को लेकर चारपहिया की अग्रिम बुकिंग जोरों पर, जानिए-क्या है ऑफर
कटरीना कैफ से अफेयर की खबरों के बीच विक्की कौशल ने बोल दी दिल की बात, कहा- ‘जल्दी ही सगाई करूंगा’
साड़ी विवाद : NCW ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को मामले की जांच करने को कहा, रेस्तरां के मार्केटिंग डायरे...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *