IMA PoP-2021:उत्तराखंड ने सैन्य अफसर देने में बड़े राज्यों को पछाड़ा-यूपी अव्वल, जानें बाकि राज्यों का हाल 

Spread the love


उत्तराखंड के जांबाज सीडीएस जनरल बिपिन रावत को खोने के गम के बीच राज्य के युवाओं ने गर्व से सीना चौड़ा करने वाली खबर दी है। कई बड़े राज्यों को पछाड़ते हुए इस बार उत्तराखंड सेना को अफसर देने में अव्वल रहा है। आईएमए से पास आउट होने वाले कैडेटों में यूपी के बाद उत्तराखंड दूसरे नंबर पर है।आबादी के हिसाब से उत्तराखंड सैन्य अफसर देने में कई बड़े राज्यों से कहीं आगे है। 

भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) की पासिंग आउट परेड निर्धारित समय पर ही आयोजित हुई। रिव्यूइंग अफसर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जेंटलमैन कैडेट्स की सलामी ली। इस बार आईएमए से 387 जेंटलमैन कैडेट पासआउट हुए हैं, जिनमें से 319 बतौर अफसर भारतीय सेना से जुड़े। इस बार मित्र देशों के 68 जेंटलमैन कैडेट भी पासआउट हुए। 

इस बार बिहार, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र जैसे बड़े राज्य भी पीओपी में कैडेटों के संख्या बल में उत्तराखंड से पीछे हैं। पिछले सालों तक जहां उत्तराखंड चौथे या पांचवें स्थान पर रहता था, इस बार दूसरे नंबर पर रहा है। शनिवार को पास आउट होने वाले कैडेटों में उत्तराखंड से 43 कैडेट पास आउट होंगे, जो करीब 13 फीसदी हैं। आबादी के हिसाब से उत्तराखंड देश में 20वें स्थान पर है। देश में सर्वाधिक जनसंख्या वाले यूपी के उत्तराखंड से दो ज्यादा यानि 45 कैडेट पासआउट होंगे। 

#WATCH | Uttarakhand: President Ram Nath Kovind reviews the passing out parade, in the presence of CM Pushkar Singh Dhami & Governor Lt Gen Gurmit Singh, at the Chetwode Building Drill Square, Indian Military Academy in Dehradun. pic.twitter.com/x38UiikDfm

— ANI (@ANI) December 11, 2021

इस बार परिजन शामिल पर सादगी से परेड
आईएमए में कोरोनाकाल में यह चौथी पासिंग आउट परेड हुई है। इस साल जून में आयोजित पीओपी में परिजन शामिल नहीं हो पाए थे। इस बार परिजन शामिल हो पाएंगे। उन्हें अपने लाडलों के कंधे पर स्टार सजाने का मौका मिलेगा। हालांकि सीडीएस जनरल बिपिन रावत के निधन के चलते इस बार आयोजन को सादगीभरा रखा है। शुक्रवार रात को होने वाले लाइड एंड साउंड समेत कई इवेंट रद रहे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बतौर रिव्यूइंग अफसर परेड की सलामी ली। 

Read Also:  चौतरफा पाबंदियों पर छलका साउथ अफ्रीका का दर्द, कहा- ओमीक्रॉन का पता लगाने की दी जा रही सजा

नेपाल मूल का एक नौजवान बनेगा भारतीय अफसर:आईएमए देहरादून से इस बार नेपाल मूल का सिर्फ एक कैडेट पास आउट होकर भारतीय सेना में अफसर बनेगा। पिछले सालों तक दो से पांच तक आंकड़ा रहता था।

राज्यवार इतने कैडेट होंगे भारतीय सेना में शामिल
उत्तर प्रदेश 45, उत्तराखंड 43, हरियाणा 34, राजस्थान 23, बिहार 26, पंजाब 22, मध्य प्रदेश 20, महाराष्ट्र 20, हिमाचल 13, जम्मू कश्मीर 11, दिल्ली 11, तमिलनाडू् 07, कर्नाटक 06, आंध्र प्रदेश 05, चंडीगढ़ 05, केरला 05, झारखंड 04, वेस्ट बंगाल 03, तेलंगाना 03, असम 02, छत्तीसगढ़ 02, गुजरात 02, मणिपुर 02, मिजोरम 02, ओडिशा 02, नेपाल मूल (भारतीय सेना) 01। इसके अलावा मित्र देशों के 68 विदेशी कैडेट भी पासआउट होंगे। 

भारतीय सेना को मिले 319 जांबाज सैन्य अफसर, राष्ट्रपति ने ली सलामी

11 दिसम्बर का दिन आईएमए देहरादून के इतिहास में एक और मील का पत्थर के रूप में दर्ज हो गया है। 149 रेगुलर कोर्स और 132 टेक्निकल ग्रेजुएट कोर्स के कुल 387 जेंटलमैन कैडेट्स आज पासआउट हुए। इनमें 319 भारतीय सेना में शामिल होंगे। 10 मित्र देशों के 68 जेंटलमैन कैडेट्स शामिल हैं। अकादमी ने अपने बहादुर पूर्व कैडेट जनरल बिपिन रावत, पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ को श्रद्धांजलि दी।

Read Also:  ताइवान के रक्षा मंत्री की चीन को दो टूक, कहा- हम अपना बचाव करने को तैयार

 

इस वर्ष 2021 में 1971 के युद्ध में भारतीय सशस्त्र बलों की जीत की 50 वीं वर्षगांठ भी है और इस वर्ष को भारतीय सैनिक के सम्मान में स्वर्णिम विजय वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है, जिन्होंने कर्तव्य की पंक्ति में अपने प्राण न्यौछावर कर दिए। जेंटलमैन कैडेट्स ने प्रेरक उत्साह और जोश का प्रदर्शन किया, और एक उत्कृष्ट शो पेश किया, जिसमें ‘कर्नल बोगी’, ‘सारे जहां से अच्छा’ और कदम कदम बढ़ाए जा की सैन्य धुनों पर पूर्णता के साथ मार्च किया गया।  

राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द परेड के समीक्षा अधिकारी के रूप में उपस्थित थे। उन्होंने परेड का निरीक्षण किया और सलामी ली। आईएमए में सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूरा करने पर जेंटलमैन कैडेटों को बधाई दी। पासिंग आउट परेड में उत्तराखंड के राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल रिटायर गुरमीत सिंह और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धनी मौजूद थे।

राष्ट्रपति ने पुरस्कार प्रदान किए
स्वॉर्ड ऑफ ऑनर का प्रतिष्ठित पुरस्कार एसीए अनमोल गुरुंग को प्रदान किया गया। जेंटलमैन कैडेट को ऑर्डर ऑफ मेरिट में प्रथम स्थान पर रहने के लिए स्वर्ण पदक एसीए अनमोल गुरुंग को प्रदान किया गया। ऑर्डर ऑफ मेरिट में दूसरे स्थान पर रहे जेंटलमैन कैडेट के लिए रजत पदक बीओ तुषार सपरा को प्रदान किया गया।ऑर्डर ऑफ मेरिट में तीसरे स्थान पर रहे जेंटलमैन कैडेट के लिए कांस्य पदक बीसीए आयुष रंजन को प्रदान किया गया। जीसी कुणाल चौबीसा को तकनीकी स्नातक पाठ्यक्रम से मेरिट के क्रम में प्रथम आने वाले जेंटलमैन कैडेट के लिए रजत पदक प्रदान किया गया।

Read Also:  कंगना रनौत ने महात्मा गांधी पर दिया विवादित बयान, बोलीं- वह चाहते थे भगत सिंह को फांसी हो और...

ऑटम टर्म 2021 के लिए 16 कंपनियों के बीच ओवरऑल फर्स्ट खड़े रहने के लिए केरेन कॉय को चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ बैनर से सम्मानित किया गया। विदेशी जीसी से मेरिट के क्रम में पहले स्थान पर रहने वाले जेंटलमैन कैडेट के लिए बांग्लादेश पदक बीओ सांगे फेनडेन दोरजी (भूटान) को प्रदान किया गया। इस पदक और बांग्लादेश ट्रॉफी की स्थापना इसी कार्यकाल से स्वर्णिम विजय वर्ष की स्मृति में की गई है।



Write To Get Paid

Biography

Related posts:

झारखंड में भारत बंद का मिला-जुला असर, कई जिलों में प्रदर्शन, चक्‍का जाम
आंख में दिक्कत हुई तो जांच कराई, डॉक्टर बोले- ब्रेन में हो रही गड़बड़ी
ममता का जलवा कायम है, कोलकाता निकाय चुनाव में 134 सीटें जीती TMC; भाजपा 3 पर ही सिमटी
खुशखबरी! इस साल किसानों की आय होगी दोगुनी, जानें क्या है सरकार की योजना?
जमशेदपुरः कोविड वैक्सीन लेने पर कैशबैक ऑफर! साइबर फ्रॉड का नया हथियार, जानिए- कैसे करते हैं ठगी
Bihar Panchayat Chunav Second Phase Voting: दूसरे चरण का मतदान संपन्न, भोजपुर में वोटर की हार्ट अटैक...
पाकिस्तान के पूर्व जज का वीडियो लीक, इमरान खान बोले- यह पनामा पेपर्स लीक से बचने का शरीफ परिवार का न...
चिराग पासवान पर बिफरे नीतीश कुमार, कहा- खुद कहां रहता है, पार्टी को भी पता नहीं चलता
बिना सहमति के 84 हजार ग्राहकों को मिला लोन, इस बड़े बैंक ने मानी गलती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *