शिक्षक पात्रता: अन्य राज्यों के अभ्यर्थियों के लिए झारखंड में शिक्षक बनना बेहद मुश्किल, जानिए- कैसे

Spread the love


झारखंड से मैट्रिक और इंटरमीडिएट करने वाले प्रशिक्षित अभ्यर्थी ही शिक्षक पात्रता परीक्षा में बैठ सकेंगे। वहीं, 12 क्षेत्रीय भाषाओं में से किसी एक में क्वालीफाई करने पर ही वे पास कर सकेंगे। भोजपुरी, अंगिका, और मगही को क्षेत्रीय भाषाओं में नहीं रखा गया है। स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग ने यह प्रावधान शिक्षक पात्रता परीक्षा संशोधित नियमावली में किया है। शिक्षा मंत्री की सहमति के बाद इस प्रस्ताव को विधि विभाग की मंजूरी के लिए भेज दिया गया है।

विधि विभाग की स्वीकृति मिलने पर कार्मिक और फिर कैबिनेट की मंजूरी दिलाई जाएगी। इसके बाद झारखंड एकेडमिक काउंसिल को शिक्षक पात्रता परीक्षा लेने की अधियाचना भेजी जाएगी।

भोजपुरी, अंगिका, और मगही को मान्यता नही

प्रस्ताव में स्पष्ट है कि शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए देश के किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से डीएलएड या बीएड होना अनिवार्य होगा। अभ्यर्थी सूबे के सरकारी या निजी स्कूलों से ही 10 वीं या 12 वीं पास होने चाहिए। ऐसे लोग ही आवेदन कर सकेंगे और परीक्षा में शामिल हो सकेंगे।

Read Also:  आंख में दिक्कत हुई तो जांच कराई, डॉक्टर बोले- ब्रेन में हो रही गड़बड़ी

लातेहार, पलामू और गढ़वा में सिर्फ नागपुरी को क्षेत्रीय भाषा का दर्जा है। वहीं, दुमका, जामताड़ा, साहिबगंज और पाकुड़ में अंगिका को क्षेत्रीय भाषा का दर्जा नहीं दिया गया है। इन जिलों में खोरठा और बांगला को मान्यता दी गई है। टेट में क्षेत्रीय भाषा से 30 अंक के सवाल पूछे जाएंगे, जिसमें 33 फीसदी अंक लाना होगा। सरकार ने संताली, मुंडारी, हो, खड़िया, कुडुख, कुरमाली, खोरठा, नागपुरी, पंचपरगानिया, उड़िया, बंगला और उर्दू को ही क्षेत्रीय भाषा की मान्यता दी है।

दो बार हुई शिक्षक पात्रता परीक्षा

Read Also:  रूस में टीका लगवाने में आनाकानी से कोरोना का सबसे भयावह रूप, पहली बार 24 घंटे में 1000 से ज्यादा मौतें

झारखंड में 2013 और 2016 में ही शिक्षक पात्रता परीक्षा हुई है। 2013 की परीक्षा में 67000 अभ्यर्थी क्वालीफाई किए थे जिसमें से करीब 18,000 की नियुक्ति हो चुकी है, वहीं 2016 टेट में 53,000 अभ्यर्थी पास किए हैं, जिनकी नियुक्ति प्रक्रिया अब तक शुरू नहीं की गई है।

पूर्व में शिक्षक पात्रता परीक्षा के सर्टिफिकेट की मान्यता 5 साल के लिए थी, जिसे बाद में 7 साल और अब केंद्र सरकार ने आजीवन कर दिया है।

Write To Get Paid

Related posts:

रांची टी20: मैच देखने के लिए 15 से शुरू होगी टिकटों की बिक्री, टिकट दर घोषित, जानिए- क्या है दर और क...
युवराज सिंह ने दीवाली विश करते हुए शेयर किया वीडियो, कहा- पटाखों के बारे में बोला, तो शायद बुरा लग ज...
अब जम्मू-कश्मीर से कांग्रेस को झटका: पूर्व मंत्रियों, विधायकों ने सोनिया को भेजा सामूहिक इस्तीफा, अन...
आर्यन खान की जमानत याचिका खारिज होने पर काम्या पंजाबी हुईं नाराज, ट्वीट कर बोलीं- ये एकतरफा राय है
जहरीली शराब हुई मौत तो विपक्ष के निशाने पर आ गए सीएम, तेजस्वी ने नीतीश कुमार से पूछे 15 सवाल
80 हजार VS 12 हजार जवान; 59 साल पहले आज ही के दिन ड्रैगन ने की थी गद्दारी, चीन ने अचानक भारत पर किया...
इस सप्ताह सूर्य की तरह चमकेगा इन राशियों का भाग्य, देखें क्या आप भी हैं इस लिस्ट में शामिल
ममता बनर्जी की तारीफ के बाद स्वामी ने मोदी सरकार को बताया- फेल, पेश किया रिपोर्ट कार्ड
कंगना रनौत ने महात्मा गांधी पर दिया विवादित बयान, बोलीं- वह चाहते थे भगत सिंह को फांसी हो और...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *