ओमिक्रॉन के खौफ के बीच WHO की चेतावनी- बढ़ सकती हैं मौतें, पिछले किसी वैरियंट में ऐसी तेजी नहीं देखी

Spread the love


दुनिया में कोरोना के नए वैरियंट ओमिक्रॉन के बढ़ते खौफ के बीच डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस ए घेब्रेयसस ने बड़ा बयान दिया है। घेब्रेयसस ने कहा कि कोरोना के अब तक आए सभी वैरियंट्स में सबसे तेजी से यह वैरियंट फैल रहा है। इसे साथ ही दुनिया के अलग-अलग देशों में कोरोना के नए वैरियंट को लेकर चलाए जा रहे बूस्टर अभियान को लेकर भी घेब्रेयसस ने काफी कुछ कहा।

टेड्रोस ए घेब्रेयसस ने कहा, ‘अब तक 77 देशों ने ओमिक्रॉन के मामलों की सूचना दी है। हकीकत यह है कि भले ही अभी तक इसका पता नहीं चला है लेकिन ओमिक्रॉन शायद दुनिया के अधिकतर देशों में है। ओमिक्रॉन जिस तेजी से फैल रहा है, वैसी तेजी हमने पिछले किसी वैरियंट के साथ नहीं देखी।’ उन्होंने कहा कि ओमिक्रॉन के आने के बाद कुछ देशों ने अपनी पूरी अडल्ट आबादी के लिए कोविड-19 बूस्टर प्रोग्राम शुरू किए हैं, जबकि हमारे पास इस वैरियंट के खिलाफ बूस्टर की प्रभावशीलता के प्रमाणों की कमी है।

‘हम बूस्टर अभियान के नहीं, असमानता के खिलाफ’
घेब्रेयसस ने कहा कि WHO को इस बात की चिंता है कि इस तरह के बूस्टर प्रोग्राम वैक्सीन जमाखोरी को दोहराएंगे, जो हम इस साल पहले भी देख चुके हैं। उन्होंने कहा कि इससे असमानता को भी बढ़ावा मिलेगा। घेब्रेयसस ने कहा, ‘यह स्पष्ट है कि जैसे-जैसे हम आगे बढ़ते हैं, बूस्टर एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। खासकर उन लोगों के लिए जो किसी गंभीर बीमारी की वजह से मौत के खतरे से जूझ रहे हैं।’ इसके आगे उन्होंने जोर देते हुए कहा कि डब्ल्यूएचओ बूस्टर के खिलाफ नहीं है। हम असमानता के खिलाफ हैं और हमारी मुख्य चिंता है कि हर जगह जान बचाई जा सके। 

Read Also:  निर्मला सीतारमण ने हावर्ड के छात्रों से कहा- निंदनीय है लखीमपुर हिंसा, PM नहीं करते किसी आरोपी की रक्षा 

इससे साथ ही स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि ओमिक्रॉन संक्रमण के मामलों की संख्या पूरी दुनिया में बढ़ी है, ऐसे में हमें उम्मीद है कि अस्पताल में भर्ती होने के मामलों और यहां तक कि इस संक्रमण की वजह से जान गंवाने वाले मरीजों की संख्या में भी बढ़ोतरी होगी। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, अभी ओमिक्रॉन को पूरी तरह से समझने के लिए और जानकारियों की आवश्यकता है। हम देशों को अस्पताल में भर्ती किए जाने वाले मरीजों के डाटा को हमारे कोविड-19 क्लिनिकल डाटा प्लैटफॉर्म पर साझा करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। इससे हमें इसे समझने में मदद मिलेगी।

Read Also:  राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग में होगी 2500 कर्मचारियों की नियुक्ति, अभ्यर्थियों को ऑनलाइन करना होगा आवेदन

बांग्लादेश में बूस्टर अभियान को तेजी देने की तैयारी
इससे पहले डब्ल्यूएचओ ने कहा था कि ओमिक्रॉन वेरियंट बड़ा प्रभाव डाल सकता है लेकिन इस बारे में निश्चित तौर पर कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। यह वेरियंट भारत में दूसरी लहर का सबब बने डेल्टा से भी अधिक संक्रामक माना जा रहा है। कहा जा रहा है यह तीसरी लहर का कारण बन सकता है। दूसरी ओर भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश में ओमिक्रॉन वेरियंट के कुछ पुष्ट मामलों के सामने आने के बाद कोविड -19 के खिलाफ बूस्टर शॉट्स देने के लिए सरकार अपने अभियान को आगे बढ़ाने की योजना बना रही है। सरकार ने दुनिया के विभिन्न हिस्सों के साथ-साथ बांग्लादेश में तेजी से फैल रहे ओमिक्रॉन के मद्देनजर प्रधानमंत्री शेख हसीना की अध्यक्षता में एक नियमित कैबिनेट बैठक में संबंधित विभागों को निर्देश जारी किया। निर्देश ने देश के स्वास्थ्य सलाहकार निकाय के नवीनतम सुझावों का भी पालन किया, जिसमें सिफारिश की गई थी कि वरिष्ठ नागरिकों और फ्रंटलाइनर्स को दूसरी खुराक के छह महीने बाद बूस्टर शॉट दिया जाए। 

Read Also:  CDS जनरल बिपिन रावत की अंतिम यात्रा में शामिल हुए 4 पड़ोसी देशों के टॉप कमांडर

Write To Get Paid

Biography

Related posts:

पिज्जा-चिप्स नहीं बच्चों को स्नैक्स में दें पालक पुदीना सेव, नोट करें हेल्दी रेसिपी
Rashi Parivartan 2022 : कुछ दिनों बाद होगा साल 2022 का पहला राशि परिवर्तन, इन राशियों का जागेगा सोया...
पीएम किसान: जानें कब आएगी आपकी लटकी हुई किस्त
Surya Grahan : वृश्चिक राशि में लगेगा साल का अंतिम सूर्य ग्रहण, इन 4 राशियों का बदल जाएगा भाग्य
LPG Price 1st December: एलपीजी सिलेंडर सस्ता होने की उम्मीदों को झटका, 100 रुपये हुआ महंगा
सलमान खान ने इस वजह से ठुकरा दी थी ‘बाजीगर’, बाद में बोले- ‘अगर कर ली होती तो आज मन्नत ना होता‘
क्या सलमान खान लगाते हैं नकली सिक्स पैक ऐब्स? केआरके ने वीडियो शेयर कर उड़ाया मजाक
गुरु कृपा से 20 नवंबर तक ये राशि वाले रहेंगे दुख- दर्द से दूर, नौकरी, व्यापार में होगा लाभ ही लाभ
ISIS छोड़कर अपने घर लौटना चाहती है चार बच्चों की मां, सरकार से मदद की गुहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *