अफगानिस्तानः तालिबान राज में बैंकों से भी उठा लोगों का भरोसा, ये हो गई हालात

Spread the love


अफगानिस्तान में तालिबान राज आने के बाद लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। तालिबानी सत्ता बहाल होने से अफगानिस्तान में न सिर्फ लोगों की जिंदगी खतरे में है बेरोजगारी और खाद्यान संकट के बाद अब बैंकों से भी लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है। हालात ये हो गई है कि लोग बैंकों में पैसा जमा करने से भी कतरा रहे हैं। राजधानी काबुल में तो कई बैंकों के पास पैसा भी खत्म होने वाला है।

अफगानिस्तान में तालिबान की सत्ता आने से स्थानीय लोगों की जिंदगी दूभर हो गई है। दुनियाभर के देश भी अफगानिस्तान को लेकर चिंता जता चुके हैं। हालांकि सत्ता पर बैठे तालिबानियों का कहना है कि उनके आने से अफगानिस्तान के लोगों की जिंदगी में सुधार आएगा। इससे उलट लोगों की परेशानियां कम होने का नाम नहीं ले रही है। बारूद के ढेर पर बैठे अफगानिस्तान में लोगों की नई परेशानी अब बैंक हो गए हैं।

Read Also:  धड़ल्ले से बिक रही हैं ये बाइक्स और स्कूटर, 1 महीने में लाखों लोगों ने खरीदा

स्थानीय मीडिया टोलो के मुताबिक, लोगों को बैंकों से अपना ही पैसा निकालने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। यही वजह है कि लोग अब बैंकों में पैसा जमा कराने से भी कतराने लगे हैं।  
टोलो न्यूज की मानें तो पूर्व सरकार के पतन के बाद से अफगानियों को बैंकों से अपना पैसा निकालने में चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। राजधानी काबुल समेत देश के तमाम शहरों में लोग अब बैंकों में पैसा जमा नहीं करवा रहे हैं। लोगों का मानना है कि बैंक में उनके पैसे तालिबान निकलवा रही है, इसलिए उन्हें बैंक से अपने पैसे निकालने में परेशानी हो रही है। 

एएनआई के मुताबिक, काबुल निवासी नूरुल्ला ने टोलो न्यूज को बताया, “हम बैंकों में अपना पैसा बचाते थे, लेकिन वर्तमान में बैंक हमें समय पर भुगतान नहीं कर रहे हैं। बैंकों ने लोगों के बीच विश्वास खो दिया है, हम अब बैंकों में अपना पैसा नहीं बचाना चाहते हैं।” 

Read Also:  Viral|| শিম্পাঞ্জির সঙ্গে উত্তাল প্রেম! মহিলার চিড়িয়াখানায় প্রবেশে নিষেধাজ্ঞা কর্তৃপক্ষের, ভাইরাল...

इस बीच देश के अर्थशास्त्रियों का कहना है कि यदि बैंकिंग प्रणाली इसी व्यवस्था के साथ आगे भी रहती है तो बैंक भविष्य में अपनी सेवाएं प्रदान नहीं कर पाएगा। इससे देश की अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। 

टोलो न्यूज के अनुसार, अफगानिस्तान के केंद्रीय बैंक के अधिकारियों ने हाल ही में एक बयान में कहा कि निजी और सार्वजनिक बैंकों को ग्राहकों के पैसे निकालने की सीमा बढ़ाकर 400 डॉलर प्रति सप्ताह करनी चाहिए।

Related posts:

Surya Grahan : वृश्चिक राशि में लगेगा साल का अंतिम सूर्य ग्रहण, इन 4 राशियों का बदल जाएगा भाग्य
धनतेरस: आपकी सुविधा के लिए ट्राफिक में बदलाव, जानिए-कहां होगा वन वे और कहां नही चलेंगी सिटी बस
शराबबंदी कानून से पीछे नहीं हटेंगे सीएम नीतीश, कहा- शराब पियोगे तो मरोगे
सीएम हेमंत सोरेन ने किया पीएसए प्लांट का  उद्घाटन भाजपा सांसद संजय सेठ ने जताया विरोध
BSEB : सिमुलतला आवासीय विद्यालय कक्षा 6 प्रवेश परीक्षा के डमी एडमिट कार्ड जारी
ISIS छोड़कर अपने घर लौटना चाहती है चार बच्चों की मां, सरकार से मदद की गुहार
Petrol Diesel Price Today: यहां महज 77.13 रुपये प्रति लीटर में बिक रहा है डीजल, चेक करें अपने शहर का...
विक्की कौशल के लिए फैन्स के लिए गुड न्यूज, जानें कब और कहां रिलीज होगी 'सरदार उधम'
निर्मला सीतारमण ने हावर्ड के छात्रों से कहा- निंदनीय है लखीमपुर हिंसा, PM नहीं करते किसी आरोपी की रक...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *